Hide

वायु प्रदूषण बन रहा वक्त से पहले मौत की वजह, जानें- भारत का हाल

जहरीले वायु प्रदूषकों के संपर्क में आने से हृदय और सांस की बीमारियों से होने वाली मौतों का जोखिम बढ़ जाता है. यह दावा शोधकर्ताओं ने एक रिसर्च के बाद किया है. न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित हुए अध्ययन को पूरा होने में 30 साल लगे. इसमें 24 देशों और क्षेत्रों के 652 शहरों में वायु प्रदूषण और मृत्यु-दर के आंकड़ों का विश्लेषण किया गया है. शोधकर्ताओं ने पाया कि कुल मौतों में वृद्धि इनहेल करने योग्य कणों (पीएम10) और फाइन कणों (पीएम2.5) के संपर्क से जुड़ी हुई होती है, जो आग से उत्सर्जित या वायुमंडलीय रासायनिक परिवर्तन के माध्यम से बनती हैं. ऑस्ट्रेलिया में मोनाश विश्वविद्यालय ...
Top
Bottom